Breaking News
Sadashiv Amrapurkar’s last film Marathi Film “DABBA AISS PAIS”

Sadashiv Amrapurkar’s last film Marathi Film “DABBA AISS PAIS”

Mumbai ,By Kabir M Ali 

Ace actor from Bollywood Sadashiv Amarapurkar who has created his place through films like ‘Ardhasatya’, ‘Sadak’, ‘Aankhen’, ‘Mohre’, ‘Eeshwar’ and many more, is not among us now, he expired on 3rd November 2014, but his last film in Marathi “DABBA AISS PAIS” which depicts struggle for education in villages is releasing soon.

SYNOPSIS:

Marathi film “DABBA AISS PAIS” shows the struggle of Marathi medium schools in villages of Maharashtra today, this film comes close to the hammering reality of striving to survive. Headmaster Nana Chaudhary runs poles to poles to save his Marathi paathshala from shutting down. He leaves no stone unturned in his efforts to provide education to numerous kids in the village from years, but today he faces the harsh reality when his school is on the verge of closing down with no infrastructure support. On other hand the trustee himself refuses to help and instead plans to open an English medium boarding school with international facilities that will generate profits for him. Nana’s daughter arrives in village after completing her education in town and revives the fight after Nana becomes weak. The powerful reaches to demolish the paathshaala finally but humanity and the power of education at last prevail and wins. This is a beautiful presentation of the struggle of Marathi schools and education in villages that needs to be looked upon and served.

Film stars Sadashiv Amrapurkar (his last film), Yatin Karyekar, Ganesh Yadav, Kashmira Kulkarni, Abhay Khadapkar, Anshumala Patil, Rajendra Shisatkar, Nandita Dhuri & Falguni Rajani. Film is Directed by Manish Joshi, Produced by Mahesh Wali, Co-Producer are Prakash Wali & Shrikant Wali, Screenplay & Dialogues by Rajesh Kushte, Additional Screenplay by Neeraj Vikram, Music by Shrihari Vaze, Lyrics by Baba Chavan, DOP Raj Kadur, Editor Mukesh Timori and Avaadh Singh, Executive Producer is Nitin Sangle, Choreography by Santosh Palwankar and Bhushan Tondvalkar, & Art by Dnyandev Indulkar.

मराठी फिल्म “डब्बा आइस पाईस”

मशहूर व लोकप्रिय अदाकार सदाशिव अमरापुरकर ने अपने अभिनय के जरिये बॉलीवुड में अपना अलग स्थान बनाया था, उनकी फ़िल्में जैसे ‘अर्धसत्य’, ‘सड़क’, ‘आँखें’, ‘मोहरे’ और ‘ईश्वर’ जैसी अनेक यादगार फिल्में हैं, ३ नवम्बर २०१४ को उन्होंने अपनी आखिरी साँसे ली थी, अब उनकी आखिरी फिल्म जो मराठी में बानी है “डब्बा आइस पाईस” जिसमे गाँव के स्कूलों की संघर्ष कथा दिखाई गयी है, जल्द ही प्रदर्शित होने वाली है।

मराठी फिल्म “डब्बा आइस पाईस” की कहानी महाराष्ट्र के गाँवो में मौजूद मराठी भाषा के स्कूलों की संघर्ष गाथा है, जिन्हे आज के आधुनिक युग में मिटाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानाध्यापक नाना चौधरी अपने मराठी पाठशाला को बंद होने से बचाने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा देतें हैं, क्यों की इसी पाठशाला में गाँव के गरीब बच्चे शिक्षा ग्रहण करते हैं, जो अपने सिमित साधनो के कारन बंद होने की कगार पर है, पाठशाला के ट्रस्टी स्वयं उसे बंद कर एक आधुनिक साधनो के साथ एक इंग्लिश स्कूल खोलना चाहते हैं ताकि मुनाफा कमाया जा सके। नाना की बेटी शहर से अपनी पढाई पूरी करने के बाद गाँव आकर अपने पिता का साथ देती, मानवता और शिक्षा के इस अनूठी जंग को चित्रित करता और शिक्षा के महत्व को जताता यह एक अनूठी फिल्म है।

फिल्म के कलाकार हैं, सदाशिव अमरापुरकर (उनकी आखिरी फिल्म), यतिन कर्येकर, गणेश यादव, कश्मीरा कुलकर्णी, अभय खडपकर, अंशुमाला पाटिल, राजेंद्र शीसत्कार, नंदिता धुरी और फाल्गुनी रजनी। फिल्म में निर्देशन मनीष जोशी का है, निर्माण महेष वाली, सह निर्माता प्रकाश वाली व श्रीकांत वाली, पटकथा व संवाद राजेश कुश्ते, एडिशनल पठकथा नीरज विक्रम, संगीत श्रीहरि वाज़े, गीत  चौहान, कैमरा राज कदुर, संपादक मुकेश तिमोरी और अवध सिंह, एक्सिक्यूटिव निर्माता नितिन सांगली, नृत्य संतोष पलवणकर और भूषण तोंडवळकर तथा आर्ट दनयनदेव इंदुलकर।