Breaking News
जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) का लाभ जन सामान्य को पहुंचाना  प्रमुख लक्ष्य – अभिमन्यू

जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) का लाभ जन सामान्य को पहुंचाना प्रमुख लक्ष्य – अभिमन्यू

हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) का लाभ जन सामान्य को पहुंचाना प्रमुख लक्ष्य है और इस दिशा में उद्योग क्षेत्र द्वारा अहम कार्य किया जाना है।
नई दिल्ली में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज द्वारा आयोजित ‘नैशनल कन्क्लेव आॅन जीएसटी ‘ को संबोधित करते हुए हरियाणा के वित्त मंत्री ने अपेक्षा की कि जीएसटी का लाभ जनसामान्य/ उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए उद्योग क्षेत्र अपना कार्य भली भाँति करेगा। मुख्य अतिथि के रूप में ‘नैशनल कन्क्लेव आॅन जीएसटी ‘ को संबोधित करते हुए केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री श्री शिव प्रताप शुक्ला ने भी कहा कि जीएसटी का लाभ तृणमूल स्तर तक पहुंचेगा और आर्थिक विषमताएं कम होंगी।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि वर्तमान में विश्व में सकल घरेलू उत्पाद की अपेक्षा खुशी के सूचकांक(Happy Index) को आर्थिक विकास का पैमाना माना जाने लगा है। जीएसटी से आर्थिक व सापेक्ष विषमताएं कम होंगी। जीएसटी सतत रूप से जारी रहने वाली प्रक्रिया है। जीएसटी को राष्ट्र,उद्योग,व्यवसाय व उपभोक्ता के हित में ही क्रियान्वित किया गया है।
‘नैशनल कन्क्लेव आॅन जीएसटी ‘ को संबोधित करने के उपरांत मीडिया से बातचीत करते हुए हरियाणा के वित्त मंत्री ने कहा कि प्रथम तिमाही में जीएसटी के क्रियान्वयन का कार्य अत्यंत संतोषजनक रहा है। हरियाणा प्रदेश में 35 प्रतिशत नए डीलर्स जुडे हैं। जुलाई माह की 90 प्रतिशत की रिटर्न भी दाखिल हो चुकी है।
उन्होंने ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि चालू वित्त वर्ष अतं तक जीएसटी एक कामफरटेबल ट्रांजिट फेज को पूर्ण कर चुका होगा।इसके उपरांत इसके प्रारूप को और अधिक विकसित करने के लिए कार्य किया जाएगा।
जीएसटी परिषद की 22 वीं बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। कुल 27 वस्तुओं पर कर की दरों को कम किया गया। निर्यातकों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रकिया को सरल बनाने के निर्देश दिए गए हैं। कंपोजिट स्कीम के अंतर्गत प्रतिष्ठानों के लिए टर्नओवर सीमा को 75 लाख रूपये से बढाकर 01 करोड़ किया गया। कुल 01करोड 50 लाख रूपये तक के व्यवसाय वाले प्रतिष्ठानों के लिए रिटर्न की समय सीमा मासिक की अपेक्षा तिमाही की गई।
‘नैशनल कन्क्लेव आॅन जीएसटी ‘ को पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष श्री गोपाल जीवारजका व पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज की अप्रत्यक्ष कर समिति के अध्यक्ष श्री बिमल जैन ने भी
संबोधित किया। पीएचडी चैम्बर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज के पूर्व अध्यक्ष श्री संजय भाटिया ने सभी का आभार व्यक्त किया। ‘नैशनल कन्क्लेव आॅन जीएसटी ‘ में जीएसटी कौंसिल के सदस्य श्री महेन्द्र सिंह, श्री प्रकाश कुमार (सीईओ ,जीएसटीएन) मौजूद रहे।